क्या हैं हम

आदाब

हम लखनऊ की तहज़ीब,अदब और शख्सियत को सम्भालने की फिक्र रखते हैं.लखनऊ कल्चर सोसायटी का गठन तो बहुत पहले आज़ादी की लड़ाई के वक़्त ही कर दिया गया था ताकि विद्यार्थी और वह युवा जो कल्चरल चीजों को पसंद करते हैं वह इसके माध्यम से आज़ादी की लड़ाई में हिस्सा ले.उस वक़्त का मकसद पूरा हुआ अब हमें अपने शहर को आगे लाने की फ़िक्र है.उसकी तहज़ीब बचाने की फ़िक्र है.इसलिए फिर से बहुत अरसे बाद इसे शुरू किया है जिसमे हर तरह के लोग शामिल है.हम सब मिलकर अपने शहर की खुशबु को बरक़रार रखेंगे.